.....

रख हौंसला, वो मंजर भी आएगा

रख हौंसला, वो मंजर भी आएगा,
प्यासे के पास समंदर भी आएगा,
थक कर ना बैठ, ऐ मंजिल के मुसाफिर,
तुझे मंजिल भी मिलेगी और मिलने का मज़ा भी आएगा।

0 शायरी पसंद आने पर एक टिप्पणी (Comment) जरूर लिखे।:

Post a Comment

Please like this website on facebook

फेसबुक उपयोगकर्ता के लिए टिप्पणी करने हेतु आसान टिप्पणी बॉक्स

  © World Of Hindi Shayari. All rights reserved. Blog Design By: Jitmohan Jha (Jitu)

Back to TOP