.....

Maithili Shayari, हमर कहानी हमर...

हमर कहानी हमर खिस्सा छी अहाँ,
हमर साँस हमर दुनियाँ छी अहाँ,
अहाँ कें कोना हम बिसैर जाऊ,
हमर हरेक साँसक हिस्सा छी अहाँ!

2 शायरी पसंद आने पर एक टिप्पणी (Comment) जरूर लिखे।:

ROHIT MANDAL 19 July 2015 at 8:04 AM  

बहुते सुदर शुभ भिनसर

ROHIT MANDAL 19 July 2015 at 8:04 AM  

बहुते सुदर शुभ भिनसर

Post a Comment

Please like this website on facebook

फेसबुक उपयोगकर्ता के लिए टिप्पणी करने हेतु आसान टिप्पणी बॉक्स

  © World Of Hindi Shayari. All rights reserved. Blog Design By: Jitmohan Jha (Jitu)

Back to TOP