.....

फ़िज़ा की महकती शाम हो तुम..

फ़िज़ा की महकती शाम हो तुम,
प्यार में छलकता जाम हो तुम,
सीने में छुपाये फिरता हूँ यादें तुम्हारी,
इसलिए मेरी ज़िन्दगी का दूसरा नाम हो तुम!

1 शायरी पसंद आने पर एक टिप्पणी (Comment) जरूर लिखे।:

komal jha 28 January 2017 at 10:54 AM  

वक्‍त ने लूट लीं लोगों की तमन्‍नाएँ भी,
ख़्वाब जो देखिए औरों को दिखाते रहिए।
very beautiful collection of hindi shayari lovers
Thanks for your hardwork..
from smsduniya.com

Post a Comment

Please like this website on facebook

फेसबुक उपयोगकर्ता के लिए टिप्पणी करने हेतु आसान टिप्पणी बॉक्स

  © World Of Hindi Shayari. All rights reserved. Blog Design By: Jitmohan Jha (Jitu)

Back to TOP