.....

Dard Shayari, मेरी तनहाई...

मेरी तनहाई पूछती हैं मुझसे !
बता आज कौन बिछर गया हैं तुझसे !!
क्या बताऊ की मेरा कोई साथी ही नहीं !
शायद आज जुदा हो गया हूँ खुदसे...!!

1 शायरी पसंद आने पर एक टिप्पणी (Comment) जरूर लिखे।:

Rahul 3 May 2011 at 11:59 PM  

Jab bhi kisi ko kareeb paya hai, kasam khuda ki wahin dhokha khaya hai. Kyon dosh dete hein hum kanto ko... Zakham to humne phulo se paaya hai.

Post a Comment

Please like this website on facebook

फेसबुक उपयोगकर्ता के लिए टिप्पणी करने हेतु आसान टिप्पणी बॉक्स

  © World Of Hindi Shayari. All rights reserved. Blog Design By: Jitmohan Jha (Jitu)

Back to TOP